Archives for May, 2017 - Page 3

Chalisa in Hindi श्री वीरभद्र चालीसा

श्री वीरभद्र चालीसा दोहा- वन्‍दो वीरभद्र शरणों शीश नवाओ भ्रात ।ऊठकर ब्रह्ममुहुर्त शुभ कर लो प्रभात ॥ज्ञानहीन तनु जान के भजहौंह शिव कुमार।ज्ञान ध्‍यान देही मोही देहु भक्‍ति सुकुमार।चौपाई-जय-जय शिव…
Continue Reading
Gods

Chalisa in Hindi श्री गणेश चालीसा

श्री गणेश चालीसा जय गणपति सदगुणसदन, कविवर बदन कृपाल । विघ्न हरण मंगल करण, जय जय गिरिजालाल ॥ जय जय जय गणपति गणराजू । मंगल भरण करण शुभ काजू ॥…
Continue Reading
Gods

Chalisa in Hindi श्री कृष्ण चालीसा

श्री कृष्ण चालीसा बंशी शोभित कर मधुर, नील जलद तन श्याम । अरुण अधर जनु बिम्ब फल, नयन कमल अभिराम ॥ पूर्ण इन्द्र, अरविन्द मुख, पीताम्बर शुभ साज । जय…
Continue Reading
Hindi

Putrakameshthi Yagya कैसे संभव हुआ राजा दशरथ का पुत्रकामेष्ठि यज्ञ?

Putrakameshthi Yagna by  Raja Dashrath राजा दशरथ ने पुत्र प्राप्ति हेतु पुत्रकामेष्ठि यज्ञ करने का निर्णय लिया। किन्तु, इस यज्ञ को विधिपूर्वक संपन्न करने की सामर्थ्य रखने वाला कोई भी…
Continue Reading
Skip to toolbar