Category: Gods

Follow your Gods

Dattatreya 0

दत्ताचा पाळणा Dattacha Palana

जो जो जो जो रे सुकुमारा । दत्तात्रया अवतारा ॥धृ॥ कमलासन विष्णू त्रिपुरारी । अत्रिमुनीचे घरी । सत्त्व हरु आले नवल परी । भ्रम दवडिला दुरी ॥१॥ प्रसन्न त्रिमूर्ति होऊनी । पुत्रत्वा पावुनि ।...

0

Today is Dattatray Jayanti

Dattatray or Dattaguru is a very important deity in Hinduism. He is depicted as a god with three heads. These heads represent Bramha Vishnu and Mahesh. It is said that Brahma Vishnu and Mahesh...

Yakshi 0

यक्ष और उनकी साधना – कामेश्वरी यक्ष साधना Kameshvari Yaksha Sadhana

कामेश्वरी यक्ष साधना काफी लोकप्रिय साधना है । ऐसे मन जात है कि यक्ष कि साधना से यक्ष और यक्षिणींइया प्रसन्न होकर अद्धभुत सिद्धिंया देती है । यः किताब पढाकार आप भी यक्ष सिद्धी...

Parshuram 0

श्री परशुराम स्तोत्र || Shri Parshuram Stotram

कराभ्यां परशुं चापं दधानं रेणुकात्मजं । जामदग्न्यं भजे रामं भार्गवं क्षत्रियान्तकं ॥१॥ नमामि भार्गवं रामं रेणुका चित्तनन्दनं । मोचितंबार्तिमुत्पातनाशनं क्षत्रनाशनम् ॥२॥ भयार्तस्वजनत्राणतत्परं धर्मतत्परम् । गतगर्वप्रियं शूरं जमदग्निसुतं मतम् ॥३॥ वशीकृतमहादेवं दृप्त भूप कुलान्तकम् ।...

Yaksheshwar 0

दुनिया का एकमात्र मंदिर जहां भगवान को पिलाई जाती है शराब Mahakal ke rahasya

आखिर क्यों कोई राजा या मंत्री नहीं गुजारता है यहां रात? कैसे पड़ा महाकाल का नाम? जानिए इस मंदिर से जुड़े तीन रहस्य। महाकालेश्वर मंदिर को लेकर कई सारी भ्रांतियां हैं। जैसे कई लोगों...

Bagalmukhi 0

आखिर बगलामुखी मां ने शत्रु की जुबान क्यों पकड़ी है,जानिए राज

देवी बगलामुखी, समुद्र के मध्य में स्थित मणिमय द्वीप में अमूल्य रत्नों से सुसज्जित सिंहासन पर विराजमान हैं। देवी त्रिनेत्रा हैं, मस्तक पर अर्ध चन्द्र धारण करती है, पीले शारीरिक वर्ण युक्त है, देवी...

नाग 0

हिंदू धर्म के प्रमुख नाग । क्या आप इनको जानते है ?

बहुत प्राचीनकाल में लोग हिमालय के आसपास ही रहते थे। वेद और महाभारत पढ़ने पर हमें पता चलता है कि आदिकाल में प्रमुख रूप से ये जातियां थीं- देव, दैत्य, दानव, राक्षस, यक्ष, गंधर्व,...

Ganesha Angaraki Story 0

गणेश जी की मूर्ति खरीदते समय रखें इन बातों का ध्यान, नहीं होगी धन की कमी

भारतीय पंरपराओं में सभी त्यौहार बड़े प्यार और चाव से मनाए जाते हैं। इसी तरह गणेश चतुर्थी के इस मौके पर सभी लोग अपने घरों में गणपति जी की मूर्ति लेकर आते हैं और...

Ganesha Angaraki Story 0

गणेश पुराण में वर्णित अंगारकी चतुर्थी की कथा

पृथ्वीदेवी ने महामुनि भरद्वाज के जपापुष्प तुल्य अरुण पुत्र का पालन किया। 7 वर्ष के बाद उन्होंने उसे महर्षि के पास पहुंचा दिया। महर्षि ने अत्यंत प्रसन्न होकर अपने पुत्र का आलिंगन किया और...

Hanuman 0

अनिष्ट का भय सताए तो हनुमान जी का यह दिव्य उपाय आजमाएं

आसन बांधू, वासन बांधू, बांधू अपनी काया। चारि खूंट धरती के बांधू हनुमत! तोर दोहाई।।   हनुमानजी के मंदिर के समीप स्थित बरगद या पीपल के वृक्ष की छोटी-छोटी चार टहनियां ले लें और...