Category: Hindi

Lakshmi 0

मार्गशीर्ष महालक्ष्मी व्रत कथा Hindi

विधि नियम :- यह पूजा गुरुवार के दिन करनी होती है। 1 :- यह व्रत पूजा करने से माता महालक्ष्मी प्रसन्न होती है, तथा सुख शान्ति एवं धन संपत्ति प्राप्त होती है। यह व्रत करने वाले...

सोलह संस्कार – 2  पुंसवन संस्कार 0

सोलह संस्कार – 2 पुंसवन संस्कार

हिन्दू धर्म में, संस्कार परम्परा के अंतर्गत भावी माता-पिता को यह तथ्य समझाए जाते हैं कि शारीरिक, मानसिक दृष्टि से परिपक्व हो जाने के बाद, समाज को श्रेष्ठ, तेजस्वी नई पीढ़ी देने के संकल्प...

श्री हनुमान वडवानल स्तोत्र 0

श्री हनुमान वडवानल स्तोत्र

विनियोगः- ॐ अस्य श्री हनुमान् वडवानल-स्तोत्र-मन्त्रस्य श्रीरामचन्द्र ऋषिः, श्रीहनुमान् वडवानल देवता, ह्रां बीजम्, ह्रीं शक्तिं, सौं कीलकं, मम समस्त विघ्न-दोष-निवारणार्थे, सर्व-शत्रुक्षयार्थे सकल-राज-कुल-संमोहनार्थे, मम समस्त-रोग-प्रशमनार्थम् आयुरारोग्यैश्वर्याऽभिवृद्धयर्थं समस्त-पाप-क्षयार्थं श्रीसीतारामचन्द्र-प्रीत्यर्थं च हनुमद् वडवानल-स्तोत्र जपमहं करिष्ये । ध्यानः-...

Hindi mantra मंगल मन्त्र 0

Hindi mantra मंगल मन्त्र

मंगल मन्त्र ॐ हुं श्रीं मंगलाय नमः || ( 3 माला का जाप प्रतिदिन ) रत्न – मूंगा . भोजन – नमक रहित बेसन से बना |

0

Hindi mantra चन्द्र मन्त्र

चन्द्र मन्त्र ॐ श्रीं क्रीं चं चन्द्राय नमः || ( 3 माला का जाप प्रतिदिन ) रत्न – मोती . भोजन – नमक रहित दही, चावल, दूध , इत्यादि |

0

Hindi mantra हनुमान दर्शन हेतु मंत्र

हनुमान दर्शन हेतु मंत्र ॐ हनुमान पहलवान , वर्ष बारहा का जवान|हाथ में लड्डू, मुख में पान| आओ आओ बाबा हनुमान|न आओ तो दुहाई महादेव गौरा -पार्वती की| शब्द साँचा| पिण्ड काँचा| फुरो मन्त्र...

0

Hindi mantra सिद्धि के लिए श्री गणेश मंत्र

सिद्धि के लिए श्री गणेश मंत्र ॐ ग्लां ग्लीं ग्लूं गं गणपतये नम :प्रकाशय ग्लूं गलीं ग्लां फट् स्वाहा|| विधि :- इस मंत्र का जप करने वाला साधक सफेद वस्त्र धारण कर सफेद रंग...

Hindi mantra केतु मन्त्र 0

Hindi mantra केतु मन्त्र

केतु मन्त्र ॐ ह्रीं केतव नमः || (3 माला का जाप करें) रत्न – लहसुनिया. भोजन – नमक रहित गेहूँ व तिल से बना हुआ |

0

Hindi mantra राहू मन्त्र

राहू मन्त्र ॐ ऐं ह्नीं राहवे नमः || ( 3 माला का जाप करें ) रत्न – गोमेद . भोजन – मीठी रोटी, रेवड़ी, तिल से बने पदार्थ |

0

Hindi mantra शनि मन्त्र

शनि मन्त्र ॐ ऐं हीं श्रीं श्नैश्चराय नमः || (5 माला का जाप करें) रत्न- नीलम . भोजन – उड़द व तेल से बने पदार्थ |