Category: Headlines

0

अधिमास – Adhimas Vrat

( श्रुति – स्मृति – पुराणादि ) – जिस महीनेमें सूर्यसंक्रान्ति १ न हो, वह महीना अधिमास होता है और जिसमें दो संक्रान्ति हों, वह क्षयमास होता है । इसको ‘ मलिम्लुच ‘ भी...

indrajal 3

जानिए इंद्रजाल के रहस्य को indrajal ka rahasya

माना जाता है कि गुरु दत्तात्रे भी इन्द्रजाल के जनक थे। चाणक्‍य ने अपने अर्थशास्‍त्र में एक बड़ा भाग विद्या पर लिखा है। सोमेश्‍वर के मानसोल्‍लास में भी इन्द्रजाल का उल्लेख मिलता है। उड़ीसा...

0

Mahabharat : Truth or Story

We all grow up listening to the stories of Ramayan and Mahabharat and eventually we invariably ask the question. Is this all true ? It is a fair question and any one who has...

सोलह संस्कार – 3 सीमन्तोन्नयन 0

सोलह संस्कार – 3 सीमन्तोन्नयन

सनातन अथवा हिन्दू धर्म की संस्कृति संस्कारों पर ही आधारित है। हमारे ऋषि-मुनियों ने मानव जीवन को पवित्र एवं मर्यादित बनाने के लिये संस्कारों का अविष्कार किया। धार्मिक ही नहीं वैज्ञानिक दृष्टि से भी...

सोलह संस्कार – 2  पुंसवन संस्कार 0

सोलह संस्कार – 2 पुंसवन संस्कार

हिन्दू धर्म में, संस्कार परम्परा के अंतर्गत भावी माता-पिता को यह तथ्य समझाए जाते हैं कि शारीरिक, मानसिक दृष्टि से परिपक्व हो जाने के बाद, समाज को श्रेष्ठ, तेजस्वी नई पीढ़ी देने के संकल्प...

सोलह संस्कार – 1 गर्भाधान संस्कार 0

सोलह संस्कार – 1 गर्भाधान संस्कार

इस संसार में प्रमुख तथा श्रेष्ठ मानव प्राणी की उत्पत्ति सुदृढ़, सतेज तथा दीर्घायु होने के लिए यथाविधि तथा यथा समय बीज स्थापन करना चाहिए । इसी का नाम गर्भाधान है । गर्भ =...

विनंतीचे अभंग 0

विनंतीचे अभंग

कृपाळु सज्जन तुम्ही सन्तजन । हेंचि कृपादान तुमचें मज ॥१॥आठवण तुम्ही द्यावी पांडुरंगा । कींव माझी सांगा काकुळती ॥२॥अनाथ अपराधी पतित आगळा । परि पाया वेगळा नका करुं ॥३॥तुका म्हणे तुम्ही निरविल्यावरी । मग...